खुमानरासो का परिचय(Khumanraso ka parichay)

🌺 खुमानरासो का परिचय🌺

Trick :- खुद

* रचनाकार – दलपति विजय(दौलत विजय भी कहा जा सकता है।)

* नायक – खुमान द्वितीय (मेवाड के राजा)

* समय – 9वीं शताब्दी(आ.शुक्ल के अनुसार)

17 वीं शताब्दी (डॉ. मोतीलाल मेनारिया के अनुसार)

* छन्द – 5000 छन्दों में रचना की।

* प्रमुख भाषा – राजस्थानी

* प्रतिपाद्य राजशस्ति

* यह ग्रन्थ की प्रामाणिक हस्तलिखित प्रति पूना संग्रहालय में उपलब्ध है।

* ग्रन्थ की रचना लगभग 5000 छन्दों में की गई है।

👉 पढ़ना जारी रखने के लिए यहाँ क्लिक करे।

👉 Pdf नोट्स लेने के लिए टेलीग्राम ज्वांइन कीजिए।

👉 प्रतिदिन Quiz के लिए Facebook ज्वांइन कीजिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

error: Content is protected !!