गोदान के पात्रों(Godan ke patro) का परिचय

💐 गोदान के प्रमुख पात्र 

1. होरी
2. रायसाहब अमरपाल सिंह
3. प्रोफ़ेसर मेहता
4. गोबर
5. पंडित दातादीन
6. धनिया
7. मालती
8.  झुनिया
9.  गोविंदी

[  ] गौण पात्र :-
1.  भोला
2.  हीरा
3.  शोभा
4.  सोना
5. रूपा
6. पंडित ओकार नाथ
7. श्याम बिहारी तंखा
8. मिस्टर खन्ना
9. सरोज
10.  मिर्जा खुर्शेद
11. पण्डित नोखेराम
12. झिंगुरी सिंह
13. गण्डासिंह
14. नोहरी
15. पटेश्वरी
16. मंगरू
17. दुलारी सहुआइन
18. चुहिया

1.  होरी :-

•  उपन्यास का नायक
•  होरी का पूरा नाम :- होरीराम
•  उम्र 40 वर्ष के आस –  पास
•   जाति :- कुर्मी
* कुर्मी :- भारत के प्रमुख प्राचीन कृषक जाति
• बेलारी गाँव (अवध प्रांत का गाँव)का साधारण   कृषक【सेमरी और बेलारी गाँव के बीच की दूरी 5 मील थी।】
* 5 मील :- 8 किलोमीटर(ढाई कोस)
• कृषक वर्ग का प्रतिनिधि पात्र
• पत्नी का नाम:- धनिया(36 वर्ष)
• पुत्र का नाम  :- गोबर (16 वर्ष)
•  पुत्रियाँ के नाम :-सोना (12 वर्ष)
                               रूपा (6वर्ष)
•  भाइयों के नाम :- हीरा और  शोभा
•   इसके पास कुल जमीन :-  पाँच बीघा(3.09एकड़)
•  जेठ के दशहरे के अवसर पर होने वाली धनुष यज्ञ नाटक में राय साहब ने होरी को राजा जनक का माली बनने के लिए कहा था।
• होरी चौधरी को बांस रुपये में बेचता है लेकिन चौधरी होरी को पन्द्रह रुपये ही देता है।
* जेठ के दशहरा :- जेठ शुक्ल पक्ष की दशमी
• अंत में होरी की मृत्यु सड़क पर मजदूरी करते हुए लू लग जाने से हुई।
•   चरित्र विशेषता :-
         © परिवार की मर्यादा का रक्षक
         © पैतृक संपत्ति का रक्षक
         © आस्थावान, और भाग्यवादी
         © परिश्रम करते रहने की दृढ इच्छाशक्ति
         ©  ईमानदारी
         ©  मर्यादावादी और नैतिकतावादी
         ©  व्यवहारकुशल।
         ©  नम्र स्वभाव

2. रायसाहब अमरपाल सिंह :-

•  सेमरी गांव(अवध प्रांत का गाँव) का निवासी
• अवध प्रांत के एक जमींदार
•  होरी इनके जमींदार में करने वाला किसान
• साहित्य और संगीत के प्रेमी
• ड्रामा के शौकीन
• अच्छे वक्ता, अच्छे लेखक और  अच्छे निशानेबाज
• इनकी पत्नियों मरे दस साल हो चुके थे।
• इन्होंने दूसरी शादी नही की।
• होरी रायसाहब का भक्त था  लेकिन गोबर इसका विरोधी था।
• रायसाहब के बड़े आलोचक :- प्रो.मेहता
• राजभक्ति प्रदर्शित कर ‘राजा’ की उपाधि प्राप्त की।
• जमींदार वर्ग का प्रतिनिधि पात्र
• रायसाहब के मित्र :-                                           प्रोफ़ेसर मेहता,मिर्जा खुर्शेद,मिस्टर खन्ना,पंडित ओकार नाथ
•   राय साहब के पुत्र का नाम :- रुन्द्रपाल (मालती की बहन सरोज से विवाह करता है)
•    राय साहब की पुत्री का नाम :-  मीनाक्षी(इसका विवाह विच्छेद हो जाता है)
•   राय साहब ने बेटे के विवाह में बीस हजार रूपये लुटाए दिये।
•  इस पात्र (राय साहब) को प्रेमचन्द ने ‘रंगासियार’   कहा है।
*रंगासियार :- झूठ बोलने वाला व्यक्ति

•  चरित्र विशेषता :-
         © पाखंडी व्यक्तित्व के स्वामी
         ©  सभा चतुर व्यक्ति
         ©  मानव स्वभाव के पारखी
         ©  किसानों के शोषक
         ©  राष्ट्रवादी बातो पर सरकार के भक्त

3. प्रोफ़ेसर मेहता :-

• प्रोफ़ेसर मेहता यूनिवर्सिटी में दर्शनशास्त्र के प्रधानाध्यापक।
• बुद्धिजीवी वर्ग के प्रतिनिधि पात्र।
• धनुषयज्ञ नाटक में पठान के वेश में।
• मालती से प्रेम करते है।
•  रायसाहब अमरपाल सिंह के मित्र
• अविवाहित
• प्रोफ़ेसर मेहता की दृष्टि में नारी का आदर्श का संजीव रूप में :- गोविंदी
• प्रोफ़ेसर मेहता की रचना को फ्रांस की अकादमी ने इस शताब्दी की सबसे उत्तम कृति बताते हुए बधाई दी है।
• प्रोफ़ेसर मेहता पश्चिमी सभ्यता का अनुकरण करने वाली स्त्रियों से बिल्कुल सहमति नही रखते।
• प्रोफ़ेसर मेहता समाज की दृष्टि से विवाहित जीवन को और  व्यक्ति की दृष्टि से अविवाहित जीवन को श्रेष्ठ मानते है।
•  चरित्र विशेषता :-
        © प्रकृति प्रेमी
        © प्रेमचंद के विचारों के वाहक
        © बुद्धि जीवी वर्ग के प्रतिनिधि पात्र
        © सिद्धांतवादी दार्शनिक।
        © कथनी और करनी में एकरूपता
        © परिश्रमी और नैतिकतावादी
        © दृढ़ चरित्र वाले व्यक्ति
        © नारी जाति के प्रति श्रद्धावन

4. गोबर :-

• होरी और धनिया का पुत्र
• 16 वर्ष का युवक
• झुनिया का पति
• इसका पुत्र :-  मंगल
• इसकी बहन :-  सोना और रूपा
• सांवला, लम्बा, एकहरा युवक
* एकहरा का अर्थ:- अकेला,दुबला
• इस पर आधुनिक पीढी का असर पड़ता है :-  गोबर ताश और जुआ खेलता है, शराब पीता है।

• यह भोला की गर्भवती बेटी झुनिया को छोड़कर लखनऊ भाग  जाता है।
•  चरित्र विशेषता :-
      © विद्रोह चेतना का प्रतीक
      © जागरूक एवं प्रगतिशील
      © अल्हड़ प्रेमी
     * अल्हड़ :- भोला,दुनियादारी न जानने वाला
      © धनी बनने का आकांक्षी
      © परिश्रमी एवं ईमानदार
      © शोषण का शिकार
      © मातृ – पितृ भक्त
     @ मजदूर एवं दलाल वर्ग का प्रतिनिधित्व

5. पंडित दातादीन :-

• उम्र – 70 वर्ष
• बेलारी गाँव का पंडित
• मातादीन के पिता
• गांव के सम्मानित व्यक्ति
• कृषकों को सूद (ब्याज) पर रूपया देते है
• गांव में पशु – चिकित्सक के आचार्य
• चरित्र विशेषता :-
        © कर्मकांड में विश्वास
        © अनेक विषयों के जानकार
        © सम्मान एवं श्रद्धा के आकांक्षी
        © धूर्त एवं चालाक
        © कृषक वर्ग के शोषक
        © जमीदार एवं पुलिस के सहायक
        © दम्भी (पांखडी) एवं अहंकार

6. धनिया :-

• होरी की पत्नी
• उपन्यास की नायिका
•  गोबर,रूपा और सोना की मां
• झुनिया की सासु
•  मंगल की दादी
• कृषक स्त्री वर्ग की प्रतिनिधि पात्र
• धनिया के विवाह को बीस वर्ष हो गये इन वर्षों में धनिया के छः संतान में केवल तीन संतान है।(तीन लड़के बचपन में ही मर गये।)
• झुनिया को घर में रखने के कारण धनिया को पंचायत के द्वारा लगाये गए दंड के रूप में तीस मन अनाज और सौ रूपये जुमार्ना देना पड़ता है।
• धनिया अपनी बेटी सोना की शादी में नोहरी से दो सौ रूपये कर्ज पर लेती है।
•  चरित्र विशेषता:-
      © परिश्रमी महिला
      © पति के प्रति पूर्ण समर्पित
      © निर्भीक और निडर
      © लड़ाकू स्वभाव वाली
      © शोषण की विरोध करने वाली
      © संघर्ष से जूझ ने वाली नारी
      © व्यवहार कुशल
      © भारतीय आदर्श नारी

7. मालती:-

•  इंग्लैंड से डॉक्टरी पढ़कर आयी हुई नवयुवक स्त्री
• लखनऊ में डॉक्टर प्रैक्टिस करती है।
• मालती के पिता अपाहिज थे।
•  दो छोटी बहने – सरोज और वरदा
•  प्रोफेसर मेहता के प्रति आकृष्ट
• बुद्धिजीवी महिला वर्ग के प्रतिनिधि(आधुनिक नारी का प्रतीक)
• मालती सत्याग्रह आन्दोलन में एक बार जेल की जा चुका थी।
• प्रो. मेहता मालती के सामने जंगली युवती की प्रशंसा करने पर वह मेहता को ‘छिछोरा’ कह देती है।
• मालती के चरित्र का तीन रूप सामने आता है – तितली रूप, मानवीरूप और देवी रूप।
• मालती पं. ओकरनाथ को शराब पिलाने की चुनौती को स्वीकार करती हुई ईनाम स्वरूप एक हजार रूपये की थैली की मांग करती है।
• चरित्र विशेषता:-
     © गतिशील चरित्र वाली युवती
     © सुंदर व्यक्तित्व की स्वामिनी
     © पढ़ी-लिखी शिक्षित युवती
     ©  बाहर से तितली भीतर से मधुमक्खी
     ©  सेवा और त्याग से युक्त
     © मालती का हृदय परिवर्तन
     © पुरुष मनोविज्ञान की अच्छी जानकारी
     © हाजिर जवाब देने वाली
     © मेकअप में प्रवीण
     ©  लुभाने और रिझाने की कला में निपुण
     ©  आमोद – प्रमोद को जीवन का तत्व     समझने वाली

8. झुनिया:-

•  भोला की विधवा पुत्री
•  अहीर जाति की कन्या
•  गोबर की प्रेमिका या पत्नी
• गोबर झुनिया को ‘झुना’ कहता था।
• चरित्र विशेषता:-
      © धनिया के प्रति सेवा भाव से युक्त
      ©  उन्मादिनी प्रेमिका
      ©  वात्सल्यमयी मां
      ©  कर्त्तव्यमयी पत्नी

9. गोविंदी :-

•  खन्ना साहब की पत्नी
•  प्रेमचंद की नारी स्वभाव को मूर्त करने वाली नारी
•  मेहता की दृष्टि में आदर्श नारी
• मालती के प्रति ईष्यालु
• प्रेमचंद ने प्रारंभ में इसका नाम ‘कामिनी खन्ना’ दिया है।
• चरित्र विशेषता:-
     © पतिपरायण पत्नी
     © आदर्श नारी पात्र
     © त्यागमयी
     © सेवाभावना से युक्त
     © वफादार पत्नी

10. सिलिया :-

•  चमारिन जाति की
•  पंडित मातादीन की प्रेमिका
•  जाति प्रथा की शिकार युवती
• मातादीन द्वारा अंत में पत्नी रूप में स्वीकार कर लिया गया।
• चरित्र विशेषता:-
       © रूपवती युवती
       © गुणवती स्त्री
       © सेवा भावना से युक्त
       © मातादीन के प्रति समर्पित
       © आदर्श प्रेमिका

[  ] गोदान के गौण पात्र :-

1. भोला :-
• उम्र- 50 वर्ष
• होरी के गांव का पुरवे का ग्वाला
• गांव का मुखिया
• दूध – मक्खन का व्यवसाय करता है
• मेले से दो बछियां और दो गाये लाया।
• इसकी पत्नी लू लग जाने के कारण गत वर्ष मर गयी।
• भोला को होरी ‘दादा’ कहकर सम्बोधित करते थे।
• भोला होरी को ‘महतो’ और  ‘भाई’ कहकर सम्बोधित करते थे।
• भोली होरी को गाय इस लोभ में देता है कि होरी उसकी शादी करा देगा।
• झुनिया का पिता

2 . हीरा :-
• होरा का  छोटा भाई
• पुनिया  का पति
•  होरी की गाय को जहर देकर मारने वाला।(भोला द्वारा दी गई गाय को )

3. शोभा :-
• होरी का छोटा भाई
• सहनशील आदमी
• लड़ाई – झगड़े से कोसो  दूर भागने वाला

4. सोना :-
• होरी की बड़ी पुत्री (उम्र – 12 साल)
• घर में सोनिया कहा करते थे।
• रूपा को सोना यह कहकर चिढ़ाती है – “रूपा राजा, सोना चमार”
• लज्जा शील कुमारी, सांवली,सुडौल ,प्रसन्न चंचल ।
• उम्र से किशोरी, देह से युवती, बुद्धि से बालिका।

5. रूपा :- 
• होरी की छोटी पुत्री (उम्र – 6 साल)
• उंद्दड और रोनी स्वभाव वाली
• घर में ‘रूपिया’ कहा करते थे।
• होरी रूपा की शादी रुपये लेकर अधेड़ उम्र के रामसेवक से करता है।

6. पंडित ओकारनाथ :-
• ‘बिजली’ दैनिक पत्र  के यशस्वी संपादक
• खद्दर का कुर्ता और चप्पल पहनते करते थे।
• राय साहब के मित्र
• यह समाजवादी थे।
• स्वयं को आदर्शवादी मानते हैं, पर पक्के स्वार्थी।

7. श्याम बिहारी तंखा :-
•  पेशे से वकील पर  वकालत न  चलने के कारण बीमा कंपनी के एजेंट।
•  ताल्लुकेदारों (जमींदारों) को महाजनों (साहूकारों) के  बैंकों में कर्ज दिलाकर वकालत से ज्यादा कमाई करते हैं।
•  राज साहब के मित्र

8. मिस्टर खन्ना :-
• बैंक के मैनेजर एवं शक्कर मिल के मैनेजिंग डायरेक्टर।

9 . सरोज और वरदा :-  मालती की बहन

10. मिर्जा खुर्शेद :-
• दिल्लगीबाज (दुसरों की खिल्ली उड़ने वाला शक्ति)
• बेफिक्री व्यक्ति (निश्चितता / बेफिक्र होने का भाव)
• लखनऊ में जूते की दुकान थी।
• काउंसलिंग के मेंबर
• राय साहब के मित्र

11. पंडित नोखेराम :-
• जमीदार के कारकुन गांव के प्रमुख व्यक्ति
* कारकुन :- किसी के प्रतिनिधि के रूप में काम करने वाला
•  किसानों के शोषक
• भोला की दूसरी पत्नी नोहरी नामक अहीरिन को घर में रखे हुए।
• कारकून बड़े कुलीन ब्राह्मण
• इनके दादा किसी राजा के दीवान थे बाद में साधु हो गए।

12. झिंगुरी सिंह :-
• उम्र – 50 वर्ष
• गांव के महाजन(साहूकार)
•  शहर के बड़े महाजन के एजेंट
•  स्वार्थी और सूदखोर (ब्याज से जीविका चलाने वाला)
• दूसरों की मुसीबत से लाभ उठाने वाले साहूकार
• नाटे और  मोटे, खल्वाट(गंजा) और काले रंग के।
• लंबी नाक और बड़ी – बड़ी मूछों वाला आदमी
• बड़े हँसोड़े
• पहली पत्नी 5 लड़के और लड़कियां छोड़कर मर गई।
• दूसरी पत्नी के कोई संतान नहीं थी।
•  तीसरा विवाह किया। इस कारण दो बीवियां थी।

13. गंडा सिंह :-
•  हलके का थानेदार
• रिश्वती(रिश्वत लेने वाले)
• निर्दयी और क्रूर

14. नोहरी :-
• अहीरिन जाति की
• यह अपने पति भोला को जूतो से मारती है।
•  झुनिया के पिता भोला से इसने दूसरा विवाह था, बाद में भोला को छोड़कर नोखेराम के रहने लगी।

15. पटेश्वरी :-
• जाति के कायस्थ
• गांव का पटवारी
• भ्रष्टाचारी एवं स्वार्थी
•  पुलिस से मिलकर किसानों को लूटने वाला

16. मंगरू साह :-
• गांव का सबसे धनी व्यक्ति
• पूजा-पाठ में रत

17. दुलारी सहुआइन :- गांव की साहूकारिन

18. चुहिया :-
• झुनिया की शहर में रहने वाली पड़ोसन
• झुनिया को प्रसव सहायता करने वाली
• मगल को दूध पिलाने वाली
• नरम दिल की स्त्री

7 comments

  1. Shravan Kumar

    Thank-you so much sir 🙏🙏👍👍👍👍👍

  2. Surendra kumar

    बहुत ही सुंदर प्रयास है जी आपका

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

error: Content is protected !!