लीलाधर जगूड़ी की रचनाएं(leeladhar jagoodee ki rachanaen)

        💐 लीलाधर जगूड़ी की रचनाएं 💐

★ उनके काव्य-संग्रह हैं :-
◆ शंखमुखी शिखरों पर (1964)

◆ नाटक जारी है (1972)

◆ इस यात्रा में’ (1974)

◆ रात अब भी मौजूद है (1976)

◆ बची हुई पृथ्वी(1977)

◆ घबराए हुए शब्द(1981)

◆ भय भी शक्ति देता है(1991)

◆ अनुभव के आकाश में चाँद(1994)

◆ महाकाव्य के बिना (1995)

◆ ईश्वर की अध्यक्षता में (1999)

◆ जितने लोग उतने प्रेम (2013)

◆ ख़बर का मुँह विज्ञापन से ढका है(2014)

★ नाटक :-  पाँच बेटे

★ निबंध-संग्रह :- रचना प्रक्रिया से जूझते हुए

● अनुभव के आकाश में चाँद( कविता-संग्रह के लिए 1997 में साहित्य अकादेमी पुरस्कार से सम्मानित)

●जितने लोग उतने प्रेम( कविता-संग्रह के लिए 2018 में व्यास सम्मान से सम्मानित)

👉 पढ़ना जारी रखने के लिए यहाँ क्लिक करे।

👉 Pdf नोट्स लेने के लिए टेलीग्राम ज्वांइन कीजिए।

👉 प्रतिदिन Quiz के लिए facebook ज्वांइन कीजिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

error: Content is protected !!