हिंदी का सबसे उद्दण्ड:- कवि बेताल बंदीजन

🌺 मिश्र बंधुओं ने कवि बेताल बंदीजन को हिंदी का सबसे उद्दण्ड कवि क्यों कहा?

👉 बेताल बंदीजन बड़ी सबल कविता की है ऐसी उद्दंड कविता हिंदी में कोई भी नहीं कर सकता है। गोरेलाल (उपनाम लाल।कवि) के बराबर के उत्तम कविता में उद्दंडता लाने में कोई भी कवि समर्थ नहीं हुआ है। भूषण, हरिकेश, शेखर और लाल कवि यह चारों बड़े उद्दंड लेखक हैं परंतु लाल कवि का प्राबल्य इन सबसे निकलता हुआ है यद्यपि कुल मिलाकर ये भूषण के समान सत्कवि नहीं है। बेताल बंदीजन भी एक बड़ा ही उद्दंड कवि है परंतु उसके कथन कुछ ग्रामीणता लिए हुए हैं और लालकवि साधु भाषा में अद्वितीय उद्दंडता लिए हैं।

* हिंदी का सबसे उद्दण्ड:- कवि बेताल बंदीजन 

 

👉 पढ़ना जारी रखने के लिए यहाँ क्लिक करे।

👉 Pdf नोट्स लेने के लिए टेलीग्राम ज्वांइन कीजिए।

👉 प्रतिदिन Quiz के लिए Facebook ज्वांइन कीजिए।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

error: Content is protected !!