हिंदी साहित्य में सरस्वती पत्रिका का योगदान(hindi sahity me sarasvati patrika ka yogadan)

★ सरस्वती पत्रिका कालिदास के इस वाक्य का उद्घोष करती है :- ” सरस्वती श्रुति महत्ती न हीयताम् “

★ 1900 ई. में चिंतामणि घोष के द्वारा, इलाहाबाद से

★ इंडियन प्रेस(इलाहाबाद) के अध्यक्ष :- चिंतामणि घोष

★ मासिक पत्रिका

★ चिंतामणि घोष ने अगस्त 1899 ई. में नागरी प्रचारिणी सभा(काशी) से अनुरोध किया कि सचित्र हिंदी मासिक पत्रिका सरस्वती के संपादन का भार ग्रहण करे।

★ नागरी प्रचारिणी सभा, काशी के तत्वाधान के पहले पत्रिका (सरस्वती पत्रिका) निकली थी।

★ सरस्वती की लोकप्रियता का कारण :- हिंदी नवजागरण के अपनी शक्ति थी।

★ पत्रिका पर छपा रहता था :- नागरी प्रचारिणी सभा, काशी द्वारा अनुमोदित।

★ संपादक मंडल में :- (13 नवम्बर,1899 ई. को संपादक मंडल गठित हुआ)

• राधाकृष्ण दास

• कीर्ति प्रसाद खत्री

• जगन्नाथ प्रसाद ‘रत्नाकर

• किशोरी लाल गोस्वामी

• श्यामसुंदर दास

★ प्रथम वर्ष ( जनवरी,1900 ई.) :- सम्पादक मण्डल के द्वारा

★ दूसरे वर्ष (1901 ई.) और तीसरे वर्ष (1902 ई.) सरस्वती का सम्पादन :- श्यामसुंदर दास

★ चौथे वर्ष (1903 ई.) से सरस्वती का सम्पादन :- आ.महावीर प्रसाद द्विवेदी के द्वारा

★ प्रथम तीन वर्ष इलाहाबाद से प्रकाशित हुआ।

★ चौथे वर्ष में इसके सम्पादन आ.महावीर प्रसाद द्विवेदी होने के बाद से काशी से प्रकाशित होने लगा।

★ इसके प्रथम वर्ष (1900ई.) 56 लेख प्रकाशित हुये।

★ 1900 ई. जनवरी अंक (प्रथम अंक) में आ.महावीर प्रसाद द्विवेदी का दो रचनाओं प्रकाशित :-
• नैषधचरित चर्चा और सुदर्शन
• द्रौपदी वचन वाणावली

★ 1900 ई. जुन अंक में आ.महावीर प्रसाद द्विवेदी की :- ‘हे कविते’ शीर्षक कविता

★ 1900 ई. जुलाई अंक में आ.महावीर प्रसाद द्विवेदी का :- ‘कवि कर्त्तव्य’ निबंध

★ हिंदी की पहली कहानी इंदुमती प्रथम सरस्वती में प्रकाशित हुई ।

★ कविता के क्षेत्र में सर्वप्रथम ब्रजभाषा के युग में सरस्वती में संस्कृत कविताओं का अनुवाद तथा कुछ खड़ी बोली की कविताएं भी प्रकाशित हुई।

★ इसमें पहली खड़ी बोली की कविता पं. किशोरी लाल गोस्वामी की और दूसरी खड़ी बोली की कविता आ. महावीर प्रसाद द्विवेदी की थी।

★ नागरी लिपि और हिंदी प्रचार एवं प्रसार का आरंभ सरस्वती पत्रिका से ही माना जाता है ।

★ इसके प्रारंभ में चार महीने के अंदर उत्तर प्रदेश में हिंदी को यह पहली सफलता मिली थी।

★ नियमित रूप से संपादित किए टिप्पणियों लिखना सबसे पहले सरस्वती ने हीं प्रारंभ किया था।

★ आरंभ में सरस्वती में केवल :- 36 पृष्ठ (वार्षिक मूल्य 3 रूपये)

बाद में पृष्ठों संख्या :- 40 (वार्षिक मूल्य 4 रूपये)

1916ई. में पृष्ठों संख्या :- 72 (वार्षिक मूल्य 4 रूपये)

★ आ. महावीर प्रसाद द्विवेदी के सम्पादक काल में सबसे अधिक पढ़ी जाने वाली पत्रिका के रूप में उभरी।

★ आ. महावीर प्रसाद द्विवेदी ने सरस्वती का संपादन किया :- 1903 ई. से 1920 ई. तक

★ महावीर प्रसाद द्विवेदी के बाद सरस्वती का संपादक:- पुन्नालाल पदुमलाल बख्शी(1921ई. से 1925 ई.तक)

★ 1925 से 1926 तक में सरस्वती का संपादक :- देवीदत्त शुक्ल

★ 1927 ई. में फिर से सरस्वती का संपादक :- पुन्नालाल पदुमलाल बख्शी(1927 ई. से 1929 ई.तक)

★ 1929 ई. में फिर से सरस्वती का संपादक :- देवीदत्त शुक्ल 

√ देवीदत्त शुक्ल के समय सह सम्पादक :-

• पं. उदयनारायण वाजपेयी
• हरीभाऊ उपाध्याय
• गणेश शंकर विद्यार्थी

★ देवदत्त शुक्ल के बाद सरस्वती का संपादक :- ठा. श्रीनाथ सिंह

★ ठा. श्रीनाथ सिंह के बाद सरस्वती का संपादक :-

• पं. उमेशचन्द्र चतुर्वेदी
• पं. देवी लाल चतुर्वेदी
• हरिकेश घोष

★ सरस्वती की लोकप्रियता का कारण :-  हिंदी नवजागरण के अपनी शक्ति थी।

★ सरस्वती पत्रिका का मुख्य उद्देश्य :-

• हिंदी के पाठकों का मनोरंजन करना

• भाषा को सुव्यवस्थित करना।

सरस्वती पत्रिका में प्रकाशित है प्रमुख हिंदी कविताएं :-

क्रम संख्या

कविता

प्रकाशन वर्ष

कवि

1.        

भौरा और कलीप्रेमापहार

1900 ई.

पंडितकिशोरी लाल गोस्वामी

2.        

कोकिलाष्टक

1901 ई.

पंडित किशोर लाल गोस्वामी

3.        

सेवावृत्ति की विगर्हणा

1902 ई.

महावीर प्रसाद द्विवेदी

4.        

रहिमनविलास

1902 ई.

राधा कृष्ण दास

5.        

वर्षा ऋतु वर्णन

1903 ई.

श्रीधर पाठक

6.        

हेमंत

1905ई

मैथिलीशरण गुप्त

7.        

जलद आहृवान

1912 ई.

जयशंकर प्रसाद

8.        

स्वपन

1924 ई.

सुमित्रानंदन पंत

9.        

मुस्कान

1924 ई.

सुमित्रानंदन पंत

10.    

पतझड़

1924ई.

सुमित्रानंदन पंत

11.    

वंदना

1932ई.

भगवती चरण वर्मा

12.    

रूपराशि

1932 ई.

रामकुमार वर्मा

13.    

मधुशाला

1932ई.

हरिवंशरायबच्चन

14.    

मुझ को न मिला है कभी प्यार

1933 ई.

जयशंकर प्रसाद

15.    

जरा

1933 ई.

उदय शंकर भट्ट

16.    

शतदल

1933 ई.

आरसी प्रसाद सिंह

17.    

लघुता की महिमा

1933 ई.

जगन्नाथ प्रसाद मिश्र ‘मिलिंद’

18.    

पग ध्वनि

1934 ई.

हरिवंश राय बच्चन

19.    

जीवन संगीत

1934 ई.

शांतिप्रिय द्विवेदी

20.    

प्यार

1934 ई.

जयशंकर प्रसाद

21.    

भ्रमरी

1935 ई.

रामधारी सिंह दिनकर

22.    

खिलौने

1935 ई.

हरि कृष्ण प्रेमी

23.    

कामायनी

1936 ई.

जयशंकर प्रसाद

24.    

मेरे पावन मेरे पुनीत

1936 ई.

शिवमंगल सिंह ‘सुमन’

25.    

कलिका से कलिका की ओर

1936 ई.

माखनलाल चतुर्वेदी

26.    

सांध्यगीत

1936 ई.

महादेवी वर्मा

27.    

उच्छ्वास

1937 ई.

रामेश्वर शुक्ल ‘अंचल’

28.    

सम्राट एडवर्ड अष्टम के प्रति

1937ई.

सूर्यकांत त्रिपाठी’निराला’

29.    

नाविक

1938 ई.

जानकी वल्लभ शास्त्री

30.    

मुकमार्ग

1938ई.

सुमित्रा कुमारी सिन्हा

31.    

उठ उठ री मानस की उमंग

1939ई.

सोहन लाल द्विवेदी

32.    

मेरे पावन मेरे पुनीत

1939 ई.

शिवमंगल सिंह ‘सुमन’

33.    

पपीहा

1940 ई.

भैरव प्रसाद गुप्त

34.    

श्रद्धांजलि

1948ई.

सोहनलाल द्विवेदी

35.    

अंतिम प्रणाम

1948ई.

भगवती चरण वर्मा

36.    

एक उर्मिला छंद

1953ई.

केदारनाथ मिश्र

  सरस्वती पत्रिका में प्रकाशित हिंदी कहानियां :-

क्रम संख्या

कहानी

प्रकाशन वर्ष

कहानीकार

1.        

इंदुमती

1900 ई.

पंडित किशोरी लाल गोस्वामी

2.        

चंद्रलोक की यात्रा

1900ई.

केशव प्रसाद सिंह

3.        

मुक्ति का उपाय

1901 ई.

रविंद्र नाथ ठाकुर

4.        

गुलबहार

1902 ई.

पंडित किशोरीलाल गोस्वामी

5.        

प्लैगकी चुड़ैल

1902 ई.

मास्टर भगवानदास

6.        

पंडित और पंडितानी

1903 ई.

गिरजा दत्त वाजपेयी

7.        

ग्यारह वर्ष का समय

1903 ई.

आचार्य रामचंद्र शुक्ल

8.        

दुलाई वाली

1907 ई.

बंग महिला

9.        

आश्चर्यजनक घंटी

1908 ई.

सत्यदेव प्रावजक

10.    

कानों में कंगना

1913 ई.

राजा राधिका रमन सिंह

11.    

उसने कहा था

1915ई.

चंद्रधर शर्मा गुलेरी

12.    

मिलन

1915 ई.

ज्वाला दत्त शर्मा

13.    

सौत

1915 ई.

मुंशी प्रेमचंद

14.    

रक्षा बंधन

1916 ई.

विश्वंभरनाथ शर्मा ‘कौशिक’

15.    

पंच परमेश्वर

1916 ई.

मुंशी प्रेमचंद

16.    

संतु

1918 ई.

बालकृष्ण शर्मा ‘नवीन’

17.    

प्रलय की रात्रि

1922ई.

सुदर्शन

18.    

अनाश्रित

1927 ई.

इलाचंद्रजोशी

19.    

ज्योत्स्ना

1933 ई.

सुमित्रानंदन पंत

20.    

मग्न हृदय

1933 ई.

चतुरसेन शास्त्री

21.    

दस मिनट

1933 ई.

रामकुमार वर्मा

22.    

विवशता

1936ई.

भगवतीचरण वर्मा

23.    

रंगीन सपना

1936ई.

लक्ष्मी नारायण मिश्र

24.    

ईद और होली

1940 ई.

सेठ गोविंद दास

25.    

तीन बच्चे

1941ई.

सुभद्रा कुमारी सिन्हा

26.    

पेशावर एक्सप्रेस

1942 ई.

पाण्डेय बेचन शर्मा ‘उग्र’

👉 पढ़ना जारी रखने के लिए यहाँ क्लिक करे।

👉 Pdf नोट्स लेने के लिए टेलीग्राम ज्वांइन कीजिए।

👉 प्रतिदिन Quiz के लिए Facebook ज्वांइन कीजिए।

4 comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

error: Content is protected !!