कवि परिचय

जगदीशचंद्र माथुर का जीवन परिचय(Jagdishchandra Mathura ka jeevan parichay)

🌺 जगदीशचंद्र माथुर का जीवन परिचय 🌺   ◆ जन्म :- 16 जुलाई, 1917 में, उत्तर प्रदेश के बुलंदशह जिले के खुर्जा में   ◆ मृत्यु :- 14 मई, 1978 ,पटना में   ◆ प्रारंभिक शिक्षा :- खुर्जा में   ◆ उच्च शिक्षा :- यूईंग क्रिश्चियन कॉलेज, इलाहाबाद और प्रयाग विश्वविद्यालय में   ◆ 1939 ई. में प्रयाग विश्वविद्यालय से ...

Read More »

मगही के भारतेन्दु रामप्रसाद सिंह का जीवन परिचय (Ramprasad Singh ka jeevan parichay)

🌺रामप्रसाद सिंह का जीवन परिचय🌺   ◆ जन्म :- 10 जुलाई 1933 को तत्कालीन गया (अब अरवल जिला) में   ◆ मृत्यु :- 25 दिसंबर 2014   ◆ उपनाम :- ●मगही के भारतेन्दु ● मगही के दधीचि ● मगही के उन्नायक   ◆ यह लम्बे समय तक मगही अकादमी, पटना के अध्यक्ष रहे ।   ◆ मगही भाषा और साहित्य ...

Read More »

रसिक सुमति का परिचय (Rasik Sumati ka parichay)

🌺रसिक सुमति का  परिचय🌺   ◆ मथुरिया टोला आगरा के रहने वाले उपाध्याय ब्राह्मण थे।   ◆ ये काश्यप- वंशी सनौढ़िया उपाध्याय ब्राह्मण थे।   ◆ इनके पिता का नाम :-ईश्वरदास 💐अलंकारचंद्रोदय:-   ● इनकी प्रमुख रचना   ● यह ग्रन्थ लिखा गया :- संवत् 1786 (सन् 1729 ई.) में   ● कुवलयानन्द के आधार पर लिखा   ● छंद ...

Read More »

रसलीन का परिचय (Raslin ka parichay)

🌺रसलीन (1689 ई.- 1750 ई.) का  परिचय🌺   ◆ रीतिकालीन कवि   ◆ इनका पूरा नाम :- सैयद गुलाम नबी ‘रसलीन’   ◆ वे हरदोई जिला के प्रसिद्ध सांस्कृतिक केन्द्र बिलग्राम के रहनेवाले थे।   ◆इनका प्रसिद्ध दोहा:- अमिय हलाहल, मदभरे, सेत, स्याम, रतनार जियत, मरत, झुक झुकि परत जेहि चितवत इक बार ।। ◆ इनके दो प्रसिद्ध ग्रंथ:- 1. ...

Read More »

केदारनाथ सिंह का जीवन परिचय(Kedarnath Singh ka jeevan parichay)

🌺केदारनाथ सिंह का जीवन परिचय🌺   ◆ जन्म :7 जुलाई 1934 चकिया गाँव ,बलिया, उत्तर प्रदेश   ◆ निधन :19 मार्च 2018 , नई दिल्ली, दिल्ली   ◆ उन्होंने अपना शोध ग्रंथ ‘आधुनिक हिंदी कविता में बिंब विधान’ आचार्य हज़ारी प्रसाद द्विवेदी के मार्गदर्शन में पूरा किया। उन्हीं की प्रेरणा से उन्होंने बांग्ला सीखी और रवींद्रनाथ टैगोर के बांग्ला साहित्य को पढ़ने का प्रयास किया। ...

Read More »

मुंशी प्रेमचंद का जीवन परिचय(Munshi Premchand ka jeevan parichay)

🌺मुंशी प्रेमचंद का जीवन परिचय 🌺   ◆ जन्म :- 31 जुलाई 1880 में वाराणसी जिले के लमही ग्राम में   ◆ मृत्यु :- 8 अक्तूबर 1936, वाराणसी   ◆ पिता का नाम :- अजायब लाल   ◆ माता का नाम :- आनन्दी देवी   ◆ प्रेमचंद के उपनाम :- ★ ‘धनपतराय’ (जन्म – पत्री का नाम)   ★ ‘नवाबराय’ (चाचा ताऊ ...

Read More »

कमाल का जीवन परिचय(kamal ka jeevan parichay)

                                       🌺कमाल का जीवन परिचय🌺 * कमाल को कबीर साहब के पुत्र बताए जाते हैं यह प्रसिद्ध है कि जब उनसे कबीर संपदा की स्थापना की बात कही गई थी तू वह राजी नहीं हुए और करीब कबीर के अनुयाई चलो ने ...

Read More »

संत लालदास का जीवन परिचय(Saint Laldas ka jeevan parichay)

🌺संत लालदास का जीवन परिचय🌺   *लाल पंथ के प्रवर्तक संत लालदास 1540 – 1648   * इनका जन्म अलवर राज्य के ग्राम डोली धूप में एक मुसलमान परिवार में हुआ   * अपने स्थान को त्याग कर रामगढ़ प्रग्ने में स्थित बारदोली में निवास करने लगे और जनता की सेवा में खो गए   * दृष्टा द्वारा तीन पीड़ित ...

Read More »

 सींगा का जीवन परिचय(seenga ka jeevan parichay)

🌺सींगा का जीवन परिचय🌺 * इनका जन्म मध्य भारत की रियासत बड़वानी के खजूर गांव में एक सवाल परिवार में हुआ * बाल्यावस्था से ही वह संस्था से विरत रहे थे * इनकी निर्गुण ब्रह्म संबंधी धारणा संत कबीर कीमत ब्रह्म विषय कल्पना से बहुत कुछ सामने रखती है * इनकी ने इनके द्वारा विरचित पदों की संख्या 800 बताई ...

Read More »

हरिदास निरंजनी का जीवन परिचय(Haridas Niranjani ka jeevan parichay)

🌺हरिदास निरंजनी का जीवन परिचय🌺 * संत हरिजन निरंजन संप्रदाय के कवि * इनका मूल स्त्रोत नाथ पंथ * साधना क्षेत्र में इस संप्रदाय को नाथ पंथ एवं संतमत की मध्यवर्ती कड़ी कहा जा सकता है * निरंजन संपदा के प्राचीनतम संप्रदायिक * जिसका प्रभाव उड़ीसा प्रांत में किसी ना किसी रूप में आज तक विद्यमान है 👉 पढ़ना जारी ...

Read More »

सुंदर दास का जीवन परिचय(Sunder Das ka jeevan parichay)

 🌺सुंदर दास का जीवन परिचय🌺 * संत दादू दयाल के शिष्य   * प्रतिभा संपन्न कवि और साधक   * जन्म स्थान :- जयपुर राज्य की प्राचीन राजधानी दौसा में   * 6 वर्ष की अल्पायु में संत दादू के शिष्य हुए   * 11 वर्ष की अवस्था में संत जगजीवन दास तथा संत रज्जब के साथ काशी की यात्रा ...

Read More »

रामानन्द का जीवन परिचय(Ramanand ka jeevan parichay)

🌺रामानन्द का जीवन परिचय🌺 * जन्म-1368ई.मृत्यु-1468ई. • जाति – कान्यकुन्ज ब्राह्मण * शिक्षा – काशी • गुरु- राघवनन्द * नाभादास की भक्तमाल में रामानंद के बारह शिष्यों का उल्लेख है। * रामावत सम्प्रदाय के प्रवर्तक * रामावत सम्प्रदाय का मूल मंत्र- राम या सीताराम * दो ग्रन्थ :- 1. वैष्णव मताब्ज भास्कर(संस्कृत भाषा में) 2. श्रीरामार्चन पद्धति(संस्कृत भाषा में) * ...

Read More »

रामानन्द के बारह शिष्यों नाम का ट्रिक(Ramanand ke baarah shishyon ke naam ka trick)

* रामानन्द के बारह शिष्यों के नाम का ट्रिक :- कब से दास पीपा लेकर धन्ना को बुलाने का अनंत प्रयत्न कर रहा है और उधर सुरसुरा एव सुरसरीपदमावती का नर का भाव देखकर सुख मिला है। 1. कबीर (कब) 2. सेन (से) 3. रैदास (दास) 4. पीपा (पीपा) 5. धन्ना (धन्ना) 6. अनंतानंद(अनंत)   7. सुरसुरानंद (सुरसुरा) 8. सुरसुरी ...

Read More »

कृष्णा दास पयहारी का परिचय(Krishna Das Payhari ka parichay)

🌺 कृष्णा दास पयहारी का परिचय🌺 * जयपुर के प्रसिद्ध गलता नामक स्थान के महन्त।   * जाति दामिनी मां ब्राह्मण   * भाषा ब्रिज   * गुरु का नाम अनंतानंद * कृष्णदास केवल दूध ही पीते थे इसलिए पियारी कहलाते हैं कल आए आवरी भाव काल संवत 1556 से 1584 * आमेर के महाराज पृथ्वीराज के गुरु कापालिक संप्रदाय ...

Read More »

सूदन का परिचय(Sudan ka parichay)

🌺 सूदन का परिचय 🌺 *सूदन हिंदी के वीर रस के कवियों में प्रमुख कवि। * जाति – माथुर एवं मथुरा के निवासी थे। * पिता का नाम – वसंत ”मथुरापर का सुभ धाम, माथुर कुल उतपत्ति वर। पिता वसन्त सुनाम, सूदन जानहु सकर कवि।।” (सुजान चरित्र में ) * भरतपुर के राजा सूरजमल उपनाम सुजान सिंह के आश्रित थे। ...

Read More »
error: Content is protected !!