New Update

Tag Archives: द्विवेदी युगीन काल

द्विवेदी काल की प्रमुख प्रवृत्तियां (dvivedi kal ki pramukh pravrttiyan)

द्विवेदी युग

                              🌺 द्विवेदी युगीन काल की प्रवृत्तियां🌺 1. आदर्श एवं नैतिकता का प्राधान्य। 2. राष्ट्रीयता अथवा देशभक्ति। 3. मानवता वादी विचारधारा का प्रादुर्भाव। 4. इतिवृत्तात्मकता। 5. काव्य भाषा के रूप में खड़ी बोली की प्रतिष्ठा। 6. मुक्तिको की अपेक्षा प्रबंध काव्यों की रचना अधिक। 7. जागरण ...

Read More »
error: Content is protected !!