Tag Archives: रस निष्पत्ति(Ras Nishpatti ) में संयोग में स्थायी भाव और विभावादि

रस निष्पत्ति(Ras Nishpatti )

    Trick :- ★ लल्लोट की उत्पत्ति मीमांसा दर्शन से हुई। भट्ट लल्लोट   उत्पत्तिवाद   ★  शंकुक की अनुमति के बाद न्याय हुआ। अनुमितिवाद    नैयायिक दर्शन   ★ नायक भुक्ति ने सांख्य दर्शन व्याख्या की। भट्टनायक भुक्तिवाद ★  अभिनवगुप्त ने अपनी अभिव्यक्ति में शैव दर्शन के बारे में बताया। अभिव्यक्तिवाद   रस निष्पत्ति  :-     काव्य ...

Read More »
error: Content is protected !!