Tag Archives: https://hindibestnotes.com/ugc-net-exam——-2/

UGC NET EXAM में आये हुये स्थापना और तर्क – 2

         🌺UGC NET EXAM में आये हुये स्थापना और तर्क – 2🌺  ◆ प्रेमचन्द यथार्थवाद से आदर्शवाद को श्रेष्ठ समझते थे क्योंकि आदर्शवाद उनकी दृष्टि में सम्पूर्ण जीवन-दृष्टि नही थी। प्रेमचन्द्र आदर्शोन्मुखी यथार्थवादी रचनाकार हैं। ◆ बिम्ब (प्रतीक) में अर्थ की सम्भावना निहित होती है परन्तु अर्थ हमेशा निश्चित नहीं होता है।   ◆ कहानी छोटे मुँह ...

Read More »
error: Content is protected !!