Tag Archives: https://hindibestnotes.com

100 महत्वपूर्ण बहुविकल्पीय प्रश्न पार्ट -3 (100 mahatvapoorn bahuvikalpeey prashn)

1.खडीबोली के आदि कवि कौन है? (A) प्रेमघन (B) भारतेन्दु (C) अमीर खुसरो✅ D) सरहपा 2.”जायसी की वाक्य-रचना स्वच्छ होने पर भी तुलसी के समान सुव्यस्थित नहीं है”- यह कथन किसका है ? (A) डॉ. गोविंद त्रिगुणायत (B) विजयदेव नारायण साही (C) आ. रामचंद्र शुक्ल✅ (D) डॉ. शिव सहाय पाठक 3. ‘अलम है इष्ट, अतः अनमोल, साधना ही जीवन का ...

Read More »

हिन्दी साहित्य के महत्वपूर्ण प्रश्न (hindi sahity ke mahatvapoorn prashn) भाग -1【500 प्रश्न】

     💐💐 हिन्दी साहित्य की 500 प्रश्नोंत्तरी 💐💐 1. प्रथम विश्व हिंदी सम्मेलन कहां हुआ था? –  मॉरीशस 2. ‘हिंदी का आदि कवि’ किसे माना जाता है? – स्वयंभू 3. हिंदी का प्रथम उपन्यास कौनसा है? – परीक्षा गुरू (श्रीनिवास दास कृत) 4. हिंदी का प्रथम एकांकी कौनसा है? – एक घूँट 5. किस रचना को छायावाद का मेनिफेस्टो कहा जाता है? ...

Read More »

सिक्का बदल गया कहानी(sikka badal gaya kahani)

         💐सिक्का बदल गया कहानी💐                 【कृष्णा सोबती】 ◆ प्रकाशन :- 1948ई. प्रतीक पत्रिका में प्रकाशित ◆ पात्र :- ● शाहनी ● शेरा (शाहनी का सेवक) ● हसैना (शेरा की पत्नी) ● थानेदार दाऊद खाँ ● भगू पटवारी ◆ कहानी का उद्देश्य :- इसमें विभाजन से उत्पन्न दारुण परिस्थितियों का मार्मिक चित्रण के साथ मानवीय संबंधों और ...

Read More »

चीफ की दावत कहानी(cheeph ki davat kahani))

       💐 चीफ की दावत कहानी 💐                 【भीष्म साहनी】 ◆ प्रकाशन :– 1956ई. ◆ पहला पाठ कहानी संग्रह से ◆ पात्र  :- ● शामनाथ ● शामनाथ की पत्नी ● शामनाथ की माँ ● शामनाथ के चीफ/ बॉस ◆ कहानी का उद्देश्य :- व्यक्ति की मनोगत स्थिति और विकृत चिंतन को उजागर करना । ◆ चीफ की दावत किसके घर ...

Read More »

अमृतसर आ गया कहानी(amrtasar aa gaya kahani)

      💐अमृतसर आ गया है कहानी💐               【भीष्म साहनी】 ◆ प्रकाशन :-.1971ई. ◆ प्रमुख पात्र :- ● कथानायक ● दुबला बाबू ● सरदार जी ● बुढ़िया ● तीन पठान व्यापारी ● लटकती मूँछों वाला आदमी   ◆ भीष्म.साहनी ने कहानी में व्यक्ति के मनोविज्ञान को बहुत ही सुक्ष्मता से रेखांकित किया है। ◆  विभाजन कालीन परिस्थितियों ने व्यक्ति को क्रूर ...

Read More »

कोसी का घटवार कहानी(Kosi ka Ghatwar kahani)

     💐 कोसी का घटवार कहानी💐               【शेखर जोशी] ◆प्रकाशन :- 1957ई. ◆ कल्पना पत्रिका में प्रकाशित ◆ कोसी घटवार कहानी संग्रह से ◆ प्रमुख पात्र :- ● गुसाई (फौजी) ● नरसिंह(बुढ्ढा प्रधान) ● धरमसिंह(हवालदार) ● लछमा (गुसाईं की प्रेमिका) ● रमुआ/रामसिंह(लछमा का पति) ● किसन सिंह (गुसांई की यूनिट का सिपाही) ● लछमा का लड़का ● लछमा के जेठ ...

Read More »

अपना – अपना भाग्य कहानी(Apna Apna Bhagya Kahani)

       💐अपना-अपना भाग्य कहानी💐                 【जैनेंद्र कुमार] ◆ प्रकाशन :- 1931 ई. ◆ वातायन कहानी संग्रह से ◆  प्रमुख पात्र  :- ● कथावाचक ● कथावाचक का मित्र ● दस वर्षीय बेघर पहाड़ी बच्चा ◆ रूई के रेशे-से भाप से बादल हमारे सिरों को छू-छूकर बेरोक-टोक घूम रहे थे। हल्के प्रकाश और अंधियारी से रंगकर कभी वे नीले दीखते, कभी सफेद ...

Read More »

दुनिया का सबसे अनमोल रत्न कहानी(duniya ka sabase anamol ratn kahani))

   💐दुनिया का सबसे अनमोल रत्न 💐             【मुंशी प्रेमचंद】 ◆ प्रकाशन :- 1907,जमाना पत्रिका में प्रकाशित ◆ ‘सोजे वतन’ कहानी संग्रह से ◆ पात्र :- ● दिलफ़िगार ● दिलफ़रेब ● काला चोर ● एक बुजुर्ग व्यक्ति ◆ कहानी का नायक :- दिलफ़िगार • * दिलफ़िगार( फ़ारसी भाषा का शब्द) का अर्थ :- आशिक़,घायल दिल वाला,  नायक ◆ कहानी की ...

Read More »

बकरी नाटक (Bakri Natak)

     💐💐 बकरी  नाटक 💐💐 ◆ नाटककार :- सर्वेश्वर दयाल सक्सेना ◆ प्रकाशन :- 1974 ई. ◆ एक प्रतीक नाटक ◆ अंक:-  दो अंक ◆ दृश्य  :- 6 दृश्य ( प्रत्येक अंक में 3 दृश्य) ★ नाटक की शैली:- प्रतीकात्मक और  व्यंग्यात्मक ◆ बकरी गरीब जनता का प्रतीक है। ◆ नाटक के पात्रः- 1.  नट और  नटी 2. भिश्ती 3. ...

Read More »

हिन्दी भाषा के संबंध में विद्वानों के कथन(hindi bhasha ke sambandh me vidvano ke kathan)

  • अंग्रेजी सीखकर जिन्होंने विशिष्टता प्राप्त की है, सर्वसाधारण के साथ उनके मत का मेल नहीं होता। हमारे देश में सबसे बढ़कर जातिभेद वही है, श्रेणियों में परस्पर अस्पृश्यता इसी का नाम है।”                     रवीन्द्रनाथ ठाकुर • “भारतवर्ष में सभी विद्याएं सम्मिलित परिवार के समान पारस्परिक सद्भाव लेकर रहती आई हैं।”  ...

Read More »

महत्वपूर्ण निबंधों की शॉर्ट ट्रिक

          ◆ भारतेन्दु हरिश्चन्द्र ◆ • Short trick :- भारतेन्दु को एक अद्भूत अपूर्व स्वप्न आया जिसमें स्वर्ण में विचारसभा का अधिवेशन हो रहा था। अधिवेशन में पाँचवे पैगम्बर और ईश्वर विलक्षण था। 1. एक अद्भूत अपूर्व स्वप्न 2. स्वर्ण में विचार सभा का अधिवेशन 3. पाँचवां पैगम्बर 4. ईश्वर का बड़ा विलक्षण है     ...

Read More »

गन्धमादन(gandhamadan) [राघव करुणो रस]

★  निबन्धकार – कुबेर नाथ राय ★ प्रकाशन वर्ष – जुलाई,1972 ई. ★ विधा- ललित निबंध ★ कुल पृष्ठ – 317 ★कुल निबंध – 15 ★ इसमें संग्रह निबंधओं के नाम 1. शब्द श्री 2. नदी तुम बीजाक्षरा 3. अन्नपूर्णा बाण भूमि 4. गौरी – मार्ग और कामुक मेघ 5. राघव करुणो रस 6. चित्र – विचित्र 7. जल दो,स्फटिक ...

Read More »

कफ़न कहानी(kafan)

             💐 ‘कफ़न’ कहानी 💐 ◆ कहानीकार :- मुंशी प्रेमचंद ◆ प्रकाशन :- दिसंबर, 1935 ◆ तीन परिच्छेद (खण्ड) ◆ नग्न यर्थाथवाद का चरित्र ◆ प्रमुख पात्र:- ● घीसू ● माधव ◆  दो  रंगमंच (कहानी की प्रमुख घटनाएं गांव और मधुशाला में घटित होती हैं) ◆  तीन परिच्छेद (खण्ड) विभाजित :- ( 1.) घीसू-माधव अलाव में आलू भूनकर खाते हैं ...

Read More »

मेरी तिब्बत यात्रा(meree tibbat yatra)[तीसरा चौथा एवं पांचवा खंड]

[ ] यात्रा वृत्तांत के रचनाकार :- राहुल सांकृत्यायन [ ] प्रकाशन वर्ष :- 6 मार्च 1937,पटना से प्रकाशित [ ] लेखक ने सर्वप्रथम तिब्बत यात्रा की तब प्रेस को दिया किंतु कुछ कारणों से 36 पृष्ठ तक छपकर काम रुक रहा। [ ] यह लेखक तीसरी बार तिब्बत से लौटने के बाद प्रकाशित हुई। [ ] कुल पृष्ठ :- ...

Read More »
error: Content is protected !!