New Update

Tag Archives: natak ka saraansh

स्कन्दगुप्त नाटक (Skandagupt natak)

स्कन्दगुप्त नाटक

💐💐 स्कंदगुप्त  नाटक 💐💐 ◆ प्रकाशन :- 1928 ई. ◆ जयशंकर प्रसाद की सबसे प्रौढ़ रचना है। ◆ आलोचकों ने प्रसाद के इस नाटक को शास्त्रीय दृष्टि से उत्तम माना है। ◆  140 पृष्ठ का नाटक ◆ अंक :- पाँच अंक ◆  शेक्सपियर के नाटकों में भी पाँच अंकों की परम्परा मिलती हैं। ◆  कुल दृश्य :- 33 दृश्य(इसके पाँच ...

Read More »
error: Content is protected !!