New Update

Tag Archives: Rītimukta kavy ki pravartiya

रीतिमुक्त काव्य की प्रवृत्तियां(Rītimukta kavy ki pravartiya)

                                            🌺रीतिमुक्त काव्य की प्रवृत्तियां 🌺 🌺 रीतिमुक्त काव्यधारा अपने युग में रची जा रही कविता की प्रतीक्रियात्मक कविता है। यह कविता काव्य शास्त्रीय विधि-विधानों एवं दरबारी संस्कृति से पराङ्मुख होकर रची गई है,इसीलिए इसे रीतिमुक्त कविता कहते हैं। ...

Read More »
error: Content is protected !!