साहित्‍य अकादमी(sahit‍ya akadami) पुरस्कारों की शार्ट ट्रिक

 

[ ] साहित्‍य अकादमी में सम्बन्ध में जानकारी :-

• भारत में साहित्‍य की राष्‍ट्रीय संस्‍था की स्‍थापना का प्रस्‍ताव विचाराधीन था।

• भारत सरकार ने रॉयल एशियाटिक सोसायटी ऑफ़ बंगाल का साहित्‍य की राष्‍ट्रीय संस्‍था की स्‍थापना का प्रस्‍ताव 1944 में।

• साहित्‍य अकादमी नामक राष्‍ट्रीय साहित्यिक संस्‍था की स्‍थापना का निर्णय लिया :- 15 दिसंबर 1952 के प्रस्ताव के अंतर्गत ।

• साहित्य अकादमी का उद्धाटन :- 12 मार्च 1954 को

• साहित्‍य अकादमी नामक राष्‍ट्रीय साहित्यिक संस्‍था का पंजीकरण :- 7 जनवरी 1956 (संस्था पंजीकरण अधिनियम 1860 के अंतर्गत)

• उद्देश्य :-

1. उच्च साहित्यिक मानदंड स्थापित करना।
2. भारतीय भाषाओं में साहित्यिक गतिविधियों को समन्वित करना एवं उनका पोषण करना।

• अकादमी की सदस्यीय परिषद् (सामान्य परिषद्) में न्यूनतम 99 सदस्य होते है।

• जिनका गठन से है :-

1. अध्यक्ष

2. वित्तीय सलाहकार

3. भारत सरकार द्वारा मनोनीत पाँच सदस्य

4. भारत सरकार के राज्यों और केन्द्रशासित प्रदेशों के प्रतिनिधि। ( 35 प्रतिनिधि)

5. साहित्य अकादेमी द्वारा मान्यता प्राप्त भाषाओं के प्रतिनिधि। ( 24 प्रतिनिधि)

6. भारत के विश्वविद्यालयों के प्रतिनिधि। ( 20प्रतिनिधि)

7. साहित्य-क्षेत्र में अपने उत्कर्ष के लिए परिषद् द्वारा निर्वाचित सदस्य। ( 8 सदस्य)

8. संगीत नाटक अकादेमी के प्रतिनिधि। (1प्रतिनिधि)

9. ललित कला अकादेमी के प्रतिनिधि (1 प्रतिनिधि)

10. भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद् के प्रतिनिधि (1प्रतिनिधि)

11. भारतीय प्रकाशक संघ के प्रतिनिधि।(1 प्रतिनिधि)

12. राजा राममोहन राय लाइब्रेरी फाउंडेशन के प्रतिनिधि।( 1 प्रतिनिधि)

• परिषद् का कार्यकाल – पांच वर्ष का ।

• साहित्य अकादमी के सर्वप्रथम अध्यक्ष :- पंडित जवाहरलाल नेहरू (सन् 1963 में वह पुनः अध्यक्ष निर्वाचन हुए। )

• वर्तमान में अध्यक्ष – डॉ. चंद्रशेखर कंबार( 2018−2022)

उपाध्यक्ष – श्री माधव कौशिक

सचिव – डॉ. के. श्रीनिवासराव

• साहित्य अकादमी का प्रधान कार्यालयः- नई दिल्ली में

• क्षेत्रीय कार्यालयः-

1. कोलकाता:- (स्‍थापना – 1956 में )

2. मुंबई :- (स्‍थापना – 1972 में )

3. बेंगलूरु :- (स्‍थापना – 1990 में )

4. चेन्नई कार्यालय :- (स्‍थापना – 2000 में )

 

[ ] अकादेमी की पत्रिकाएँः-

1. इंडियन लिटरेचर :-

• प्रकाशन :-1957 से

• भाषा :- अंग्रेज़ी में ,द्वैमासिक पत्रिका 

• वर्तमान संपादक :- डॉ. ए .जे .थॉमस

2. समकालीन भारतीय साहित्य

• प्रकाशन:- 1980 से

• भाषा :- हिन्दी में ,द्वैमासिक पत्रिका

• वर्तमान संपादक : – श्री बलराम प्रेम नारायण

3. संस्कृत प्रतिभा :-

• प्रकाशन :- सन् 1959 से

• भाषा :- संस्कृत में ,द्वैमासिक पत्रिका 

• प्रथम संपादक :- वी. राघवन

• वर्तमान संपादक :-  प्रो. अभिराज राजेन्द्र मिश्र

 

4. आलोक :-

• प्रकाशन :- 2002 से वार्षिक पत्रिक ,फिर 2007 से अर्द्धवार्षिक पत्रिका रूप में प्रकाशित।

• भाषा :- हिन्दी में

• वर्तमान संपादक :-  श्री अनुपम तिवारी

[ ] पुरस्कार राशि :-
• 5000 रुपये (1955 से 1982 तक)
• 10000 रुपये (1983 से 1987 तक)
• 25000 रुपये (1988 से 2000 तक)
• 40000 रुपये (2001 से 2002 तक)
• 50000 रुपये (2003 से 2009 तक)
• 1लाख रुपये (2010 से अब तक)

शार्ट ट्रिक:- मावा नरा दिन मे पंत लेकर भगा।(1955 से 1961)

1. माखन लाल चतुर्वेदी :- हिमतरंगिनी(काव्य,1955)

2. वासुदेवशरण अग्रवाल :- पद्मावत संजीवनी व्याख्या(1956)

3. आचार्य नरेन्द्र देव :- बुद्धधर्म दर्शन(1957)

4. राहुल सांस्कृत्यायन :- मध्य एशिया का इतिहास(1958)

5. दिनकर :- संस्कृति के चार अध्याय (निबन्ध,1959)

6. पंत :- कला और बूढ़ा चाँद(काव्य,1960)

7. भगवतीचरण वर्मा :- भूले- बिसरे चित्र(उपन्यास,1961)

नोटः-1962 में कोई पुरस्कार नही दिया गया।

 

शार्ट ट्रिक:- अमृत से जै हुए नाग हरि श्रीराम को दे। 
                   (1963 से 1970)

1. अमृत राय :- कलम का सिपाही(जीवनी,1963)

2. च्चिदानंद हीरानंद वात्स्यायन‘अज्ञेय’ :- आँगन के पार द्वा(काव्य,1964)

3. गेन्द्र :- रस सिद्धान्त(समीक्षा,1965)

4. जैनेन्द्र :- मुक्तिबोध(उपन्यास,1966)

5. अमृत लाल नागर :- अमृत और विष(उपन्यास,1967)

6. हरिवंशराय बच्चन :- दो चट्टान(काव्य,1968)

7. श्रीलाल शुक्ल :- रागदरबारी(उपन्यास,1969)

8. रामविलास शर्मा :- निराला की साहित्य साधना(आलोचना,1970)

◆ शार्ट ट्रिक:- हजा के शिव भी के लिए भाधु के कृष्ण के साथ रहते है।(1971 से 1980)

1. डॉ. नामवर सिंह :- कविता के प्रतिमान(आलोचना,1971)

2. वानी प्रसाद मिश्र :- बुनी हुई रस्सी(काव्य,1972)

3. हजारी प्रसाद द्विवेदी :- आलोक पर्व (निबन्ध,1973)

4. शिवमंगल सिंह :- मिट्टी की बरात(काव्य,1974)

5. भीष्म साहनी :- तमस(उपन्यास,1975)

6. यशपाल :- तेरी मेरी उसकी बात(उपन्यास,1976)

7. मशेर बहादुर सिंह :- चुका भी हूं मैं(काव्य संग्रह,1977)

8. भारत भूषण अग्रवाल :- उतना बस सूरज हूं (काव्य,1978)

9. धूमिल :- कल सुनना मुझे(काव्य,1979)

10. कृष्ण सोबती :- जिंदगीनामा – जिन्दा रूख(उपन्यास,1980)

 

शार्ट ट्रिक:- त्रिलोचन वाले हरिशंकर सर्वेत्र रघु के निर्मल स्थान केदारनाथ मे श्रीकांत के नरेश केदारनाथ सिंह शिव की भक्ति करते है।(1981 से 1990)

 

1. त्रिलोचन :- ताप के ताये हुए दिन(काव्य,1981)

2. हरिशंकर परसाई :- विकलांग श्रद्धा के दौर(व्यग्य,1982)

3. सर्वेश्वर दयाल सक्सेना :- खुटियों पर टंगे लोग(काव्य,1983)

4. रघुवीर सहाय :- लोग भूल गए है(काव्य,1984)

5. निर्मल वर्मा :- कव्वे और काला पानी(कहानी,संस्मरण1985)

6. केदारनाथ अग्रवाल :- अपूर्व काव्य (काव्य,1986)

7. श्रीकांत वर्मा :- मगध (काव्य,1987)

8. नरेश महेता :- अरण्य (काव्य,1988)

9. केदारनाथ सिंह :- अकाल और सारस (काव्य,1989)

10. शिवप्रसाद सहाय :- नीला चाँद(उपन्यास,1990)

 

◆ शार्ट ट्रिक:- गिरी के किशोर विष्णु वाजपेयी और कुँवर सुरेन्द्र ने लीला अरुण एवं कमल विनोद मंगलेश को दिया।(1991 से 2000)

 

1. गिरीजा कुमार माथुर :- मै वक्त के हूँ सामने(काव्य,1991)

2. गिरिजा किशोर :- ढ़ाई घर(उपन्यास,1992)

3. विष्णु प्रभाकर :- अर्द्धनारीवर(उपन्यास,1993)

4. अशोक वाजपेयी :- कही नही वही(काव्य,1994)

5. कुँवर नारायण :- कोई दूसरा नही(काव्य,1995)

6. सुरेन्द्र वर्मा :- मुझे चाँद चाहिए(उपन्यास,1996)

7. लीलाधर जगूड़ी :- अनुभव के आकाश में चाँद(काव्य,1997)

8. अरुण कमल :- नये इलाके में (काव्य,1998)

9. विनोद कुमार शुक्ल :- दीवार में एक खिड़की रहती थी (उपन्यास,1999)

10. मंगलेश डबराल :- हम जो देखते हैं(काव्य,2000)

 

शार्ट ट्रिक:- अलका और राजेश ने कमल की वीरता को देखकर मनोहर स्थान पर ज्ञान अमर गोविन्द से प्राप्त करने कैलाश पर्वत पर सूर्य के उदय होने से पहले पहुंच गये।(2001 से 2010)

1. अलका सरावगी :- कलिकथाःवाया बाईपास(उपन्यास,2001)

2. राजेश जोशी :- दो पंक्तियों के बी(काव्य,2002)

3. कमलेश्वर :- कितने पाकिस्तानी (उपन्यास,2003)

4. वीरेन्द्र डंगवाल :- दुष्चक्र में स्त्रष्टा(काव्य,2004)

5. मनोहर श्याम जोशी :- क्याप(उपन्यास,2005)

6. ज्ञानेन्द्रपति :- संशयात्मा(काव्य,2006)

7. अमरकान्त :- इन्हीं हथियारों से(उपन्यास,2007)

8. गोविन्द मिश्र :- कोहरे मे कैद रंग(उपन्यास,2008)

9. कैलाश वाजपेयी :- हवा मे हस्ताक्षर(काव्य,2009)

10. उदयप्रकाश :- मोहनदास(उपन्यास,2010)

 

शार्ट ट्रिक:- काशी में चन्द्रकांत ने मृदुला एवं रमेश को राम का दर्शन कराने के लिए नासिक के कुंतल स्थान पर चित्रानंद और अनामिका से मिला।(2011 से 2020)

 

1. काशीनाथ सिंह :- रेहान पर रघु(उपन्यास,2011)

2. चन्द्रकांत देवटाले :- पत्थर फेंक रहा हूँ (काव्य,2012)

3. मुदुला गर्ग :- मिलजुल मन के लिए (काव्य,2013)

4. रमेश चंद्र शाह :- विनायक (उपन्यास,2014)

5. रामदरश मिश्र :- आग की हंसी (कविता संग्रह, 2015)

6. नासिरा शर्मा :- परिजात (उपन्यास,2016)

7. रमेश कुंतल मेघ :- विश्वमिथकसरित्सागर(ओलाचक,2017)

8. चित्रा मुद्गल :- पोस्ट बॉक्स नम्बर 203 नाला सोपारा (उपन्यास,2018)

9. नंदकिशोर आचार्य :- छीलते हुए अपने को (कविता,2019)

10.  अनामिका :- टोकरी में दिगन्त (कविता,2020)

 

◆  दया प्रकाश सिन्हा :- सम्राट अशोक (नाटक,2021)

अधिक जानकारी के लिए हमारी वेबसाइट देखें क्लिक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

error: Content is protected !!