नेट की गद्य व पद्य रचनाए

दलित निबंध संग्रह(dalit nibandh sangrah)

🌺 दलित निबंध संग्रह🌺 क्रम संख्या दलित निबंध संग्रह  निबंधकार 1. पत्ते क्यों गिरते हैं(1989) दलित साहित्य और सामाजिक न्याय(1998)   सत्यप्रेमी 2. साहित्य और सामाजिक क्रांत डॉ.दयानंद बटोही 3. मेरा दलित चिंतन डॉ. एन. सिंह 4. परिवर्तन जरूरी है सुशिला टाकभौरे 5. लोकतंत्र के लोकतंत्र में भागीदार के सवाल कंवल भारती 6. 7. 8. 9. 10.   👉 पढ़ना ...

Read More »

दलित नाटक(dalit naatak)

🌺दलित नाटक(dalit naatak)🌺   क्रम संख्या दलित नाटक नाटककार 1. अछूत का बेटा(1977) वीरांगनाझलकारी बाई(1990) तड़फ मुक्ति की (1994) वीरांगना ऊदा देवी पासी(1995) प्रतिशोध (1999) अंतहीन बेड़िया(1999) धर्म परिवर्तन (2000)   माता प्रसाद 2. अदालत नामा(1989) मोहनदास नैमिशराय 3. दलितों का चीखता अभाव(1993) डॉ.प्रेमशंकर 4. नंगा सत्य रंग और व्यंग्य   डॉ सुशीला टाकभौरे 5. कठौती में गंगा(1959) डॉ.एन. सिंह ...

Read More »

दलित कहानी संग्रह(dalit kahani sangrah)

🌺 दलित कहानी संग्रह 🌺   क्रम संख्या दलित कहानी संग्रह कहानीकार 1.  सलाम घुसपैठिए   ओमप्रकाश वाल्मीकि 2. पुनर्वास विपिन बिहारी 3. तलाश जयप्रकाश कर्दम 4.    आवाजें हमारा जवाब   मोहनदास नैमिशराय   5.         टूटतावहम अनुभूति के घेरे संघर्ष   डॉ सुशीला टाकभौरे 6. चारइंच की कलम डॉ.कुसुम वियोगी 7. हैरी कब आएगा नया ब्राह्मण   सूरजपालचौहान   ...

Read More »

दलित काव्य संग्रह(dalit kavy sangrah)

    🌺 दलित काव्य संग्रह 🌺 क्रम संख्या दलित काव्य संग्रह रचनाकार 1. गूंगा नहीं था मैं तिनका तिनका आग डॉ जयप्रकाश कर्दम 2. शोषितनामा डॉ मनोज सोनकर 3. तब तुम्हारी निष्ठा क्या होती कंवल भारती 4.  प्रयास क्यों विश्वास करूं कब होगी वह भोर   सूरजपाल चौहान   5. व्यवस्था के विषधर डॉ. कुसुम वियोगी 6. उत्पीड़न की ...

Read More »

दलित उपन्यास(dalit upanyas)

दलित उपन्यास की विशेषताएं:- दलित उपन्यास में विद्रोह स्वर दिखाई देता है। दलित उपन्यासों में अराजकता और अत्याचार को दिखाया जाता है। दलित उपन्यासों में सामाजिक स्थिति का पता चलता है। दलित उपन्यास भीमराव अंबेडकर के मौलिक विचार प्रभावित है। दलित उपन्यासों में कल्पना का समावेश नहीं होतीहै।     क्रम संख्या दलित उपन्यास उपन्यासकार 1. छप्पर (1997) जयप्रकाश कर्दम ...

Read More »

 दलित आत्मकथा और आत्मकथा कार(dalit aatmakatha aur aatmakathakar)

🌺दलित आत्मकथा🌺 • दलित आत्मकथा की शुरुआत :- आत्मकथ्य से (रचयिता -भीमराव अंबेडकर, 1956में ,जनता पत्र नागपुर से )   • दलित आत्मकथा के संदर्भ में आत्मकथा शब्द के लिए आत्मवृत्त,आत्मचरित्र, जीवन गाथा,आत्मकथनस्वकथन एवंस्वचरित शब्दों का प्रयोग किया जाता है।   • मोहनदास नैमिशराय अपनी कृति ‘अपने अपने पिंजरे को’आत्मकथा के बजाय आत्मवृत्त मानते हैं।   🌺 दलित आत्मकथा की ...

Read More »

प्रमुख दलित रचनाकार(pramukh dalit rachanakar)

🌺प्रमुख दलित रचनाकार 🌺 1. ओम प्रकाश वाल्मीकि:- ● जन्म:-  30 जून, 1950 ई. ,बरला मुजफ्फर नगर ● मृत्यु :- 7 नवंबर 2013 ई. ,देहरादून   ● रचनाएँ:- ★ काव्य संग्रह:- √ सदियों का संताप (1989 ई.)   √ बस बहुत हो चूका वाल्मीकि (1997 ई.)   √ अब और नहीं (2009 ई.)   ★ कहानी संग्रह: √ सलाम (2000 ई.)   ...

Read More »

UGC NET EXAM में आये हुये स्थापना और तर्क – 3

               🌺UGC NET EXAM में आये हुये स्थापना और तर्क – 3🌺   ◆ विरुद्धों का सामंजस्य कर्मक्षेत्र का सौंदर्य है जिसकी ओर आकर्षित हुए बिना मनुष्य का हृदय नहीं रह सकता। ● विरुद्धों का सामंजस्य चमत्कृत करता है और यही लोकधर्म का सौंदर्य है।   ◆ काव्य के संदर्भ में ‘काव्यानुभूति’,’रसानुभूति’ और ‘सौंदर्यानुभूति’ ...

Read More »

UGC NET EXAM में आये हुये स्थापना और तर्क – 2

         🌺UGC NET EXAM में आये हुये स्थापना और तर्क – 2🌺  ◆ प्रेमचन्द यथार्थवाद से आदर्शवाद को श्रेष्ठ समझते थे क्योंकि आदर्शवाद उनकी दृष्टि में सम्पूर्ण जीवन-दृष्टि नही थी। प्रेमचन्द्र आदर्शोन्मुखी यथार्थवादी रचनाकार हैं। ◆ बिम्ब (प्रतीक) में अर्थ की सम्भावना निहित होती है परन्तु अर्थ हमेशा निश्चित नहीं होता है।   ◆ कहानी छोटे मुँह ...

Read More »

UGC NET EXAM में आये हुये स्थापना और तर्क – 1

🌺UGC NET EXAM में आये हुये स्थापना और तर्क🌺 ◆ नई आलोचना का केन्द्र बिन्दु-तनाव की स्थिति की परख और सौंदर्य की खोज है। क्योंकि नई आलोचना कविता को शब्द प्रतिभा मानती है।   ◆ आधुनिकतावाद वर्तमान की स्वीकृति और समीक्षा के नये सोपानों को स्थापित करता है।   ◆ क्रोध विवेक का शत्रु है क्योंकि क्रोध विवेक को नष्ट ...

Read More »

सौन्दर्य की नदी नर्मदा【यात्रा वृत्तान्त 】के बहुविकल्पीय प्रश्न(saundary ki nadee narmada【yaatra vrttaant 】ke bahuvikalpeey prashn)

        💐 सौन्दर्य की नदी नर्मदा【यात्रा वृत्तान्त 】💐                       🌺  अमृत लाल वेगड़🌺 1. अमृत लाल वेगड़ ने नर्मदा पदयात्रा का वर्णन किस पुस्तक में किया । (A) सौंदर्य की नर्मदा (B) अमृतस्य नर्मदा (C)  A एवं B दोनों में ✅ (D) इनमें से कोई नहीं 2. ...

Read More »

अंधेरे में कविता के महत्वपूर्ण प्रश्न(andhere mein kavita ke mahatvapoorn prashn)

💐 अंधेरे में कविता के महत्वपूर्ण प्रश्न💐 (1. ) “जिंदगी के कमरे में अंधेरे लगता है चक्कर कोई एक लगातार आवाज पैरों को देती है सुनाई।” यह आवाज किसकी सुनाई दिती है? 💐 रक्तालोक स्नान पुरुष की आवाज (2.) “उनके पीछे चल संगीत नको का चमकता जंगल” यहां ‘संगीन’ शब्द का क्या अर्थ है? 💐  ‘संगीन’शब्द का अर्थ ;-  बंदूक ...

Read More »

मुर्दहिया(आत्मकथा) के पात्रों का परिचय【murdahiya(aatmakatha) ke patron ka parichay】

            💐💐 मुर्दहिया (आत्मकथा) 💐💐                      【डॉ. तुलसीराम】 ◆ प्रकाशन :- 2010 ई. 💐मुर्दहिया की भूमिका  :- ◆ लेखक के  गांव धरमपुर (आजमगढ़) की बहुद्देशीय कर्मस्थली :- मुर्दहिया ◆ चरवाही से लेकर हरवाही तक के सारे रास्ते मुर्दहिया से गुजरते थे। ◆ स्कूल हो या दुकान, बाजार हो या मंदिर, यहाँ तक कि मजदूरी के लिए कलकत्ता वाली रेलगाड़ी पकड़ना ...

Read More »

सिक्का बदल गया कहानी(sikka badal gaya kahani)

         💐सिक्का बदल गया कहानी💐                 【कृष्णा सोबती】 ◆ प्रकाशन :- 1948ई. प्रतीक पत्रिका में प्रकाशित ◆ पात्र :- ● शाहनी ● शेरा (शाहनी का सेवक) ● हसैना (शेरा की पत्नी) ● थानेदार दाऊद खाँ ● भगू पटवारी ◆ कहानी का उद्देश्य :- इसमें विभाजन से उत्पन्न दारुण परिस्थितियों का मार्मिक चित्रण के साथ मानवीय संबंधों और ...

Read More »

चीफ की दावत कहानी(cheeph ki davat kahani))

       💐 चीफ की दावत कहानी 💐                 【भीष्म साहनी】 ◆ प्रकाशन :– 1956ई. ◆ पहला पाठ कहानी संग्रह से ◆ पात्र  :- ● शामनाथ ● शामनाथ की पत्नी ● शामनाथ की माँ ● शामनाथ के चीफ/ बॉस ◆ कहानी का उद्देश्य :- व्यक्ति की मनोगत स्थिति और विकृत चिंतन को उजागर करना । ◆ चीफ की दावत किसके घर ...

Read More »
error: Content is protected !!